आंचल का दर्द


                                                                   (1)
पटरी पर ट्रेन तेजी से दौड़ रही है
12 साल का बच्चा मुन्ना खिड़की से बाहर झांक रहा है।
तभी उसकी नजर बरगद के नीचे बैठी एक महिला पर पड़ती है। जो पागल सी दिखती है।
गाड़ी की स्पीड इतनी तेज है कि बरगद का पेड़ और वो महिला पीछे छूट जाती है।

                                                                    (2)

गाड़ी पहाड़पुर स्टेशन पर रुकती है।
सोनू (अपने पापा से ) पापा दादी का घर आ गया
पापा- हां बेटा हमलोग अपने गांव पहुंच गए हैं। थोड़ी देर में तुम दादी के पास पहुंच जाओगे।
सोनू की उम्र 12 साल है।
सोनू काफी खुश है कि वो पहली बार अपने गांव आया है।
लेकिन सोनू के मन से बरगद और महिला की छवि जाती नहीं है।

                                                                    (3)

सोनू के पापा का नाम लक्ष्मण सिंह है।
स्टेशन के बाहर वो रिक्शा ढूंढता है।
लक्ष्मण सिंह- (रिक्शे वाले से ) ऐ रिक्शा खाली है पहाड़पुर गांव चलना है।
रिक्शेवाला- चलेंगे साहब, 50 रुपए लगेंगे।
लक्ष्मण सिंह- अरे पचास रुपए बहुत हैं 30 में चलना हो तो बोलो।
रिक्शेवाला- चलो आप 40 रुपए दे देना मैं आपको पहाड़पुर गांव छोड़ दूंगा।
लक्ष्मण सिंह- चलो ठीक है, लेकिन रिक्शा तेजी से चलाना। ताकि हम जल्द घर पहुंच जाए।
रिक्शावाला- फिक्र मत करो साहब, आपको टाइम पर ही पहुंचाएंगे।
लक्ष्मण सिंह बैग रिक्शे पर रख देता है और पति, पत्नी और बेटा तीनों एक ही रिक्शा पर सवार हो जाते हैं।
रिक्शा गांव की ओर चल पड़ता है।

                                                                   (4)

लक्ष्मण सिंह- बस इस घर के सामने रोक देना
चल बेटा आ गए हम अपने घर
दादी मुन्ना को प्यार से लगे लगा लेती है।

                                                                   (5)

गांव के लड़के क्रिकेट खेलते हैं। मुन्ना भी उनके साथ मिलकर क्रिकेट
खेलता है। मुन्ना जब फिल्डिंग करता है तो उसके पास एक महिला आ जाती है
ये वही महिला है जिसे मुन्ना ने ट्रेन से देखा था। लड़के महिला को देखकर
भागने लगते हैं। वो मुन्ना को भी भागने को कहते हैं।
एक लड़का आवाज लगाता है- भाग मुन्ना भाग...

                                                                  (6)
मुन्ना हांफते हुए घर के आंगन में आता है।
दादी- अरे तू हांफ क्यों रहा है
मां- बेटा क्या हुआ...
दादी- कुछ बोल तो सही
मुन्ना- दादी जब हम क्रिकेट खेल रहे थे तभी
वहां एक आंटी आई...जिसे देखकर सभी भागने लगे।
उन्होंने मुझे भी भागने को कहा। मुझे समझ में नहीं
आया उस आंटी को देखकर सभी क्यों भागने लगे।
दादी थोड़ी बेचैन होते हुए मुन्ना को सीने से लगा लेती है
दादी- बेटा वो डायन है। उसने गांव के कई बच्चों को जादू-टोना
करके मार डाला है। उसके पास भूल कर भी नहीं जाना मेरे लाल
वो डायन है

                                                                     (7)
मुन्ना चांद को निहारता है। वो उससे पूछता है
मुन्ना- क्या तुम्हारे यहां भी डायन है। क्या सचमुच डायन बच्चों को मार
डालती है। मुन्ना छत पर से गांव के अंतिम मकान को देखता है। जिधर से उसका रिक्शा आया था...
वहां उसे फिर वही महिला दिखाई देती है। जिसके बाल बिखरे हैं। वो कचरे के ढेर में कुछ ढूंढ रही होती है।
अचानक उसे कचरे में फेंका गया खाना मिलता है। जिसे हड़बड़ा कमर वो उठाती है और जल्दी-जल्दी खाने लगती है। वो डर के मारे इधर-उधर देखती है और फिर वापस लौट जाती है। मुन्ना उसे देखता रह जाता है और वो महिला उसकी आंखों से ओझल हो जाती है। मुन्ना चुपके से अपने कमरे में आकर सो जाता है। लेकिन मुन्ना के मन से वो महिला गायब नहीं होती है। मुन्ना जानना चाहता है कि आखिर वो महिला बच्चों को क्यों मारती है। क्यों वो कचरे में पड़ा खाना खाती है।

                                                                    (8)
दादी ने मुन्ना को महिला की नजर से बचाने के लिए तांत्रिक को बुलाया
तांत्रिक ने मुन्ना को मंत्र फूंक कर काले रंग का एक माला पहने को दिया।
दादी- बाबा अब तो मेरा पोता उस डायन से सुरक्षित हो गया ना
तांत्रिक- चिंता मत करो, ये माला उस डायन से आपके पोते की सुरक्षा करेगा।

                                                                  (9)

मुन्ना छत पर खड़ा होकर चांद को निहारता है। इतने में एक बार
फिर वो महिला कचरे में खाना ढूंढती है। लेकिन उसे खाना नहीं मिलता है।

                                                                (10)

मुन्ना खाना लेकर बरगद के पेड़ के पास जाता है। वहां उसे वो महिला दिखाई नहीं देती है
लेकिन जैसे ही वो वापस मुड़ता है अचानक उसे वो महिला दिखाई देती है। पहले से डरा सहमा
मुन्ना और डर जाता है। हिम्मत करके वो महिला से बात करने की कोशिश करता है।
मुन्ना- आंटी मैं आपके लिए खाना ले आया हूं। ये लो खा लो। तुम बहुत भूखी हो।
रमकटिया- बेटा तुझे देखकर ही मेरी भूख मिट गई। रात हो गई है जा घर चला जा। मैं
खाना खा लूंगी।

लेकिन मुन्ना नहीं जाता है। वो महिला के बारे में जानना चाहता है।
मुन्ना- तुम यहां क्यों रहती हो, क्या तुम्हारा कोई नहीं है।
रमकटिया- जानते हो बेटा, मैं यहां क्यों रहती हूं, क्योंकि यहां मेरे मासूम बेटे को मारकर
तुम्हारे पिता ने यहां दफना दिया है।
रमकटिया मुन्ना को सारी कहानी बताती है.

                                                              (11)
कहानी 15 साल पहले की है जब रमकटिया लच्छु से विवाह करके ससुराल आई थी। तब के वक्त और आज के वक्त में काफी अंतर आ गया है। तब रमकटिया गांव की बहू थी और अब मरकटिया के नाम से उसकी पहचान एक डायन की है।  रमकटिया की शादी लच्छू यानि लक्ष्मण सिंह से हुई थी। लेकिन वो उसे पसंद नहीं करता था। इसलिए वो बात-बात पर रमकटिया को मारने-पीटने लगता था।
लच्छु- साली तेरी जैसी डायन को झेल रहा हूं ये क्या कम है।
रमकटिया- मैं डायन हूं अरे तू वो चांडाल है जिसने मेरी जिंदगी नरक बना दी है।
लच्छु- अरे अभी देखती जा...मैं तेरी जिंदगी को क्या-क्या बनाता हूं।
रमकटिया- मुझे धमकी मत दे...जा अपनी रखैल के पास...उसी की जिंदगी
संवार...तेरे जैसे मरद से अच्छा मैं बिना मरद के ही रहूं।
लच्छु- घबरा मत हरामजादी, तुझे इस घर से न निकाला तो मेरा नाम
लक्ष्मण सिंह नहीं।
ये कहकर लच्छु गुस्से में घर से बाहर चला जाता है।


                                                             (12)

रमकटिया और लच्छु से एक बेटा भी था। बिरजू जो महज 5-6 साल का मासूम था।
रमकटिया अपने बेटे के साथ सोई हुई रहती है। तभी लच्छु गुस्से में कमरे में प्रवेश
करता है।
लच्छु- अब देख मैं तेरा क्या हाल करता हूं।

लच्छु रमकटिया का मुंह बांधकर उसे लकड़ी की कुर्सी से बांध देता है। जिससे वा वो
चिल्ला पाती है और न ही अपने बेटे को बचा पाती है। लच्छु रमकटिया के जिगर के
टुकड़े को गला दबाकर मार डालता है। बेबस रमकटिया अपने जिगर के टुकड़े को
टुकड़े-टुकड़े होते देखते रह जाती है। वो बदहवास सी हो जाती है।


                                                            (13)

पंचायत बैठती है। गांव के लोगों की भीड़ जमा हो जाती है। लच्छु रमकटिया के खिलाफ पंचायत से शिकायत करती है।
लच्छु- ई ससुरी डायन है डायन, अपने बेटे को खा गई। इतना ही नहीं...ये डायन सती सावित्री भी नहीं है।
मेरी पंच परमेश्वर से गुजारिश है कि मुझे इस डायन से बचाया जाए।

पंचायत रमकटिया के खिलाफ फैसला देती है। रमकटिया की बात सुने बिना पंचायत
उसे गांव से बाहर रहने का हुक्म सुनाती है। धीरे-धीरे पंचायत की भीड़ खत्म हो जाती है
उस जगह पर सिर्फ रमकटिया खड़ी रहती है। वो तब तक खड़ी़ रहती है जब तक सूरज डूब नहीं जाता।

                                                            (14)

रमकटिया की आंखों से आंसू छलक पड़ते हैं।
रमकटिया- ये जगह देख रहे हो...इसी जगह पर तुम्हारे बाप ने मेरे मासूम बच्चे को मारकर
दफना दिया था। मैं कब का ये गांव ये इलाका छोड़ देती है, लेकिन नहीं...मुझे अपने बच्चे के साथ
रहना है। भले वो मर गया है, लेकिन उसकी रूह मेरे साथ है। इस बरगद के नीचे मेरी ममता की छांव
में मेरा बेटा सो रहा है। कोई उससे उसकी नींद ना छीन ले...इसलिए मैं यहां से कई नहीं जाती ....

मुन्ना रमकटिया के आंसू पोछता है और कहता है कि वो भी तो उसका बेटा है। रमकटिया मुन्ना को सीने से लगाकर फफक पड़ती है।


                                                           (15)

सूरज उगता है। इतने में लक्ष्मण और उसकी पत्नी माला पूरे परिवार और गांव वालों के साथ पहुंचता है।
रमकटिया की गोद में सोए मुन्ना और रमकटिया की नींद खुलती है।
दादी- हे राम इस डायन ने मेरे पोते को भी अपने वश में कर लिया। लच्छु तांत्रिक बाबा को बुलाओ नहीं
तो ये डायन मेरे पोते को खा जाएगी।
मुन्ना- कोई जरूरत नहीं है दादी...यहां कौन डायन है और कौन मां है....ये मैं समझ चुका हूं। अगर आपकी नजर में ये डायन हैं तो मैं डायन का बेटा कहलाना पसंद करूंगा।
लक्ष्मण- दो थपड़ में मां-बेटे के प्यार का भूत नीचे उतर जाएगा।
रमकटिया- आ गए ना अपनी असली औकात पर। ना लच्छु ...उस समय तुमने मेरे हाथ और मुंह बांध रखे थे और मेरी आंखों के सामने मेरे जिगर के टुकड़े का गला घोंटकर हत्या कर दी थी...अब वक्त बदल गया है। मुन्ना मेरा बेटा है...मेरे जिगर का टुकड़ा है...मैं इसे टुकड़े-टुकड़े नहीं होने दूंगी, क्योंकि आज मेरा मुंह और दोनों हाथ खुले हैं।
                                                            (16)
इस खुलासे के बाद दादी सदमे में आ जाती है...
दादी-लच्छु तू ऐसा काम करेगा मैंने सपने में भी नहीं सोचा था। उस मासूम का गला घोंटने से पहले तेरे हाथ नहीं कांपे। तू बहुत बड़ा शैतान है।
(रमकटिया से...)
दादी- बहुरिया हमसे बहुत बड़ी गलती हो गई जो हमने लच्छु पर भरोसा किया। चल तुझे तेरा घर बुला रहा है
दादी रमकटिया को गले लगा लेती है।

Comments

केंद्रीय मंत्री

राजनाथ सिंह- गृह मंत्री अरुण जेटली- वित्त, कॉरपोरेट मंत्री नितिन गडकरी-सड़क परिवहन एवं राजमार्ग,जहाजरानी, जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री सुरेश प्रभु- वाणिज्य एवं उद्योग, नागरिक विमानन पीयूष गोयल- रेल और कोयला मंत्री निर्मला सीतारमण- रक्षा मंत्री सुषमा स्वराज- विदेश मंत्री उमा भारती- पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री डीवी सदानन्द गौड़ा-सांखि्यकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन रामविलास पासवान-उपभोक्ता कार्य, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रविशंकर प्रसाद-कानून एवं न्याय, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री
(4 जनवरी- विश्व ब्रेल दिवस) (9 जनवरी- प्रवासी भारतीय दिवस) (10 जनवरी- विश्व हास्य दिवस) (12 जनवरी- राष्ट्रीय युवा दिवस) (15 जनवरी- भारतीय थल सेना दिवस) (24 जनवरी- राष्ट्रीय बालिका दिवस) (25 जनवरी- राष्ट्रीय मतदाता दिवस) (26 जनवरी- गणतंत्र दिवस) (28 जनवरी-अंतरराष्ट्रीय कुष्ठ निवारण दिवस) (30 जनवरी- शहीद दिवस, विश्व कुष्ठ उन्मूलन दिवस) ----- (2 फरवरी- विश्व आद्रभूमि दिवस) (4 फरवरी- विश्व कैंसर दिवस) (7 फरवरी- सुरक्षित इंटरनेट दिवस) (10 फरवरी- राष्ट्रीय कृमि उन्मूलन दिवस) (11 फरवरी- अंतरराष्ट्रीय महिला एवं बालिका विकास दिवस) (12 फरवरी- राष्ट्रीय उत्पादकता दिवस) (13 फरवरी- विश्व रेडियो दिवस) (20 फरवरी- विश्व सामाजिक न्याय दिवस) (21 फरवरी- अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस) (24 फरवरी- केंद्रीय उत्पाद दिवस) (28 फरवरी- राष्ट्रीय विज्ञान दिवस) ----- (3 मार्च- विश्व वन्यजीव दिवस) (4 मार्च- यौन शोषण के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस) (8 मार्च- अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस) (10 मार्च-CISF राइजिंग दिवस) (13 मार्च- विश्व किडनी दिवस) (15 मार्च- विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस, विश्व दिव्यांग दिवस) (20 मार्च- विश्व गौरैया दिवस, अंतरराष्ट्रीय प्रसन्नता दिवस) (21 मार्च- विश्व वानिकी दिवस, विश्व कविता दिवस) (22 मार्च- विश्व जल दिवस) (23 मार्च- विश्व मौसम दिवस, भारतीय शहीद दिवस) (24 मार्च- विश्व क्षय रोग दिवस) (26 मार्च- विश्व कठपुतली दिवस) (27 मार्च- विश्व थियेटर दिवस) ----- (4 अप्रैल- अंतरराष्ट्रीय खनन जागरूकता दिवस) (5 अप्रैल- अंतरराष्ट्रीय मेरीटाइम दिवस) (6 अप्रैल- विकास एवं शांति के लिए अंतरराष्ट्रीय खेल दिवस) (7 अप्रैल- विश्व स्वास्थ्य दिवस) (17 अप्रैल- विश्व हिमोफीलिया दिवस) (18 अप्रैल- विश्व विरासत दिवस) (21 अप्रैल- सचिवालय दिवस, सिविल सेवा दिवस) (22 अप्रैल- पृथ्वी दिवस) (23 अप्रैल- विश्व पुस्तक और कॉपीराइट दिवस) ---- (1 मई- विश्व मजदूर दिवस) (3 मई- विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस) (8 मई- रेडक्रास दिवस) (10 मई- विश्व प्रवासी पक्षी दिवस) (15 मई- अंतरराष्ट्रीय परिवार दिवस) (17 मई- विश्व दूरसंचार दिवस) (21 मई- आतंकरोधी दिवस) (22 मई- विश्व जैविक विविधता दिवस) (23 मई- विश्व कछुआ दिवस) (24 मई- राष्ट्रमंडल दिवस) (29 मई-अंतरराष्ट्रीय यू एन शांतिरक्षक दिवस) (31 मई- तंबाकू निषेध दिवस) ----- (1 जून- विश्व अभिभावक दिवस) (3 जून- विश्व साइकिल दिवस) (5 जून- विश्व पर्यावरण दिवस) (8 जून- विश्व महासागर दिवस) (12 जून- बाल श्रम के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस) (14 जून- विश्व रक्तदाता दिवस) (17 जून- फाडर्स डे) (19 जून- राष्ट्रीय पठन-पाठन दिवस) (20 जून- विश्व शरणार्थी दिवस) (21 जून- अंतरराष्ट्रीय योग दिवस) (23 जून- संयुक्त राष्ट्र जन सेवा दिवस) (26 जून- नशीली दवाओं और तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस) (27 जून- संयुक्त राष्ट्र MSME दिवस) (29 जून- राष्ट्रीय सांख्यिकी दिवस) (30 जून- अंतरराष्ट्रीय एस्टेरॉयड दिवस) ----- (1 जुलाई- डॉक्टर्स डे, GST दिवस) (6 जुलाई- विश्व पशुजन्य रोग दिवस) (11 जुलाई- विश्व जनसंख्या दिवस) (18 जुलाई- अंतरराष्ट्रीय नेल्सन मंडेला दिवस) (6 अगस्त- हिरोशिमा दिवस) (7 अगस्त- राष्ट्रीय हस्तकरघा दिवस) (9 अगस्त- भारत छोड़ो दिवस) (12 अगस्त- अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस, विश्व हाथी दिवस) (15 अगस्त- स्वतंत्रता दिवस) (19 अगस्त- विश्व मानवतावादी दिवस, विश्व फोटोग्राफी दिवस) (20 अगस्त- सदभावना दिवस) (21 अगस्त- विश्व फैशन दिवस) (29 अगस्त-राष्ट्रीय खेल दिवस, परमाणु परीक्षणों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय दिवस) (5 सितंबर-राष्ट्रीय शिक्षक दिवस) (8 सितंबर- विश्व साक्षरता दिवस) (14 सितंबर- हिन्दी दिवस) (15 सितंबर- विश्व लोकतंत्र दिवस) (16 सितंबर- विश्व ओजोन परत संरक्षण दिवस) (21 सितंबर- विश्व शांति दिवस) (27 सितंबर- विश्व पर्यटन दिवस) (28 सितंबर- विश्व रेबीज दिवस) (29 सितंबर- विश्व हृदय दिवस) ----- (2 अक्टूबर-गांधी जयंती, विश्व अहिंसा दिवस, लालबहादुर शास्त्री जयंती) (3 अक्टूबर- विश्व प्रकृति दिवस) (5 अक्टूबर- विश्व आवास दिवस, विश्व शिक्षक दिवस) (8 अक्टूबर- भारतीय वासुसेना दिवस) (9 अक्टूबर- विश्व डाक दिवस) (11 अक्टूबर-अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस) (15 अक्टूबर- अंतरराष्ट्रीय ग्रामीण महिला दिवस) (16 अक्टूबर- विश्व खाद्य दिवस) (17 अक्टूबर- विश्व गरीबी उन्मूलन दिवस) (20 अक्टूबर- विश्व सांख्यिकी दिवस) (21 अक्टूबर- पुलिस स्मृति दिवस) (24 अक्टूबर- संयुक्त राष्ट्र स्थापना दिवस, विश्व विकास सूचना दिवस) (31 अक्टूबर-राष्ट्रीय एकता दिवस, सरदार बल्लभभाई पटेल जयंती) ----- (10 नवंबर- अंतरराष्ट्रीय मलाला दिवस) (12 नवंबर- राष्ट्रीय पक्षी दिवस) (14 नवंबर- बाल दिवस, विश्व मधुमेह दिवस) (19 नवंबर- अंतरराष्ट्रीय नागरिक दिवस) (20 नवंबर- अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस) (25 नवंबर- महिलाओं के खिलाफ हिंसा उन्मूलन के लिए अंतरराष्ट्रीय दिवस) (26 नवंबर- विश्व पर्यावरण संरक्षण दिवस, गुरु नानक देव जयंती, राष्ट्रीय विधि दिवस, संविधान दिवस) (1 दिसंबर- विश्व एड्स दिवस) (2 दिसंबर- कंप्यूटर साक्षरता दिवस) (3 दिसंबर- अंतरराष्ट्रीय विकलांग जन दिवस, भोपाल गैस त्रासदी स्मृति दिवस) (4 दिसंबर- नौसेना दिवस) (7 दिसंबर- झंडा दिवस) (9 दिसंबर- अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिवस) (10 दिसंबर- अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस) (14 दिसंबर- राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस) (22 दिसंबर- राष्ट्रीय गणित दिवस) (23 दिसंबर- किसान दिवस) (24 दिसंबर-राष्ट्रीय उपभोक्ता अधिकार दिवस) (25 दिसंबर- राष्ट्रीय सुशासन दिवस) ----- भारत-भूटान ने द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की। महिला मुक्केबाजी: मैरीकॉम सेमीफाइनल में पहुंचीं।

भारत में प्रथम

जनगणना-1872, नेशनल पार्क-हैेले नेशनल पार्क, समाचार पत्र-बंगाल गजट,भाषाय़ी दैनिक-बंगला समाचार दर्पण, नियमित 10 सालों पर जनगणना-1881, विश्वविद्यालय-नालंदा विश्वविद्यालय, ओपेन यूनिवर्सिटी-आंध्र प्रदेश ओपन यूनिवर्सिटी, महिला डाकघर-शास्त्री भवन, नई दिल्ली, ई-कोर्ट-अहमदाबाद, रक्षा विश्वविद्यालय-बिनौला (गुरुग्राम, 2013), अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार सेवा- बंबई से लंदन (1851), तार लाइन-डायमंड हार्बर से कलकत्ता (1853), मनरेगा की शुरुआत- अनंतपुर, आंध्र प्रदेश 2006), आधार प्रोजेक्ट- थेंबली, महाराष्ट्र), जनसेवा कानून लाने वाला राज्य- मध्य प्रदेश (2010), लोकायुक्त नियुक्त करने वाला राज्य- महाराष्ट्र (1971), बायोस्फीयर रिजर्व-नीलगिरी, मैरिन नेशनल पार्क-कच्छ (गुजरात), टाइगर प्रोजेक्ट की शुरुआत-पलामू टाइगर रिजर्व (झारखंंड), क्लासिकल भाषा का दर्जा पाने वाली भाषा-तमिल (2004), प्रथम उपग्रह-आर्यभट्ट (19 अप्रैल 1975), स्पॉन्सर सीरियल-हमलोग (1984), दूरदर्शन का रंगीन प्रसारण-15 अगस्त 1982, प्रथम मूक फिल्म- राजा हरिश्चंद्र (1913), प्रथम बोलती फिल्म- आलमआरा (1931), 3-डी फिल्म-माई डियर कुट्टीचाटन (1984), प्रथम टेक्नीकलर फिल्म- झांसी की रानी (1950), प्रथम हिन्दी समाचार पत्र- उदंत मार्तंड, प्रथम एक्सप्रेस वे- मुंबई-पुणे एक्सप्रेस वे (2000), प्रथम एयरलाइन- इम्पीरियल एयरवेज, प्रथम अल्ट्रा मेगा पावर प्रोजेक्ट-मुन्द्रा(गुजरात), प्रथम चंद्र अभियान- चंद्रयान (22 अक्टूबर 2008), प्रथम सैन्य संचार उपग्रह-रुक्मिणी (G-SAT-7 2013) CNG से चलने वाली प्रथम ट्रेन- रेवाड़ी से रोहतक (13 जनवरी 2015), प्रथम मंगल अभियान- 5 नवंबर 2013, प्रथम केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय की स्थापना- मणिपुर, प्रथम जल विद्युत परियोजना- शिवसमुद्रम (1902), प्रथम सौर सरोवर- भुज (गुजरात), प्रथम स्टॉक एक्सचेंज-बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (1875), प्रथम कमोडिटी एक्सचेंज-मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX)

राज्यपाल

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक, बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन, राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह, त्रिपुरा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी, मेघालय के राज्यपाल तथागत रॉय, झारखंड की राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू।

CM

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री-कमलनाथ, पंजाब के मुख्यमंत्री- कैप्टन अमरिंदर सिंह, हरियाणा के मुख्यमंत्री-मनोहर लाल खट्टर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, बिहार के मुख्यमंत्री- नीतीश कुमार, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री- ममता बनर्जी, झारखंड के मुख्यमंत्री- रघुबर दास, ओडिशा के मुख्यमंत्री- नवीन पटनायक, तेलंगाना के मुख्यमंत्री- के. चंद्रशेखर राव, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री- चंद्रबाबू नायडू, कर्नाटक के मुख्यमंत्री- एच डी कुमारस्वामी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री- देवेंद्र फड़नवीस, राजस्थान के मुख्यमंत्री-अशोक गहलोत, गुजरात के मुख्यमंत्री-विजय रुपाणी, गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर

खेल पुरस्कार

राजीव गांधी खेल रत्न 2018- विराट कोहली (क्रिकेट) राजीव गांधी खेल रत्न 2018- एस मीराबाईचानू (भारोत्तोलन)
मध्य प्रदेश: छिटपुुुट हिंसा के बीच मतदान 74.61 फीसदी। बिहार: भोजपुर जिले के बिहिया गांव में महिला को निर्वस्त्र घुमाने के मामले में 20 दोषी करार। हॉकी विश्वकप: बेल्जियम ने कनाडा को 2-1 से हराया।

RRRR

लोकसभा की राज्यवार सीटें- बिहार-40 झारखंड-14 जम्मू कश्मीर-6 हिमाचल प्रदेश-4 तमिलनाडु-39 छत्तीसगढ़- 11 मध्य प्रदेश- 29 पश्चिम बंगाल- 42 उत्तर प्रदेश- 80 उत्तराखंड- 5 तेलंगाना- 17 आंध्र प्रदेश- 25 केरल -20 असम- 14 महाराष्ट्र- 48 ओडिशा- 21 पंजाब- 13 गुजरात -26 अरुणाचल प्रदेश- 2 सिक्किम -1 राजस्थान- 25 मणिपुर-2 त्रिपुरा- 2 मेघालय-2 हरियाणा -10 नागालैंड-1 गोवा- 2 मिजोरम- 1 कर्नाटक- 28 दिल्ली-7 दमन एवं दीव-1 अंडमान निकोबार-1 लक्षद्वीप- 1 दादर और नगर हवेली- 1 चंडीगढ़-1 पुड्डुचेरी-1

विधानसभा सीट

विधानसभा की राज्यवार सीटें- बिहार-243, झारखंड- जम्मू कश्मीर- हिमाचल प्रदेश- तमिलनाडु- छत्तीसगढ़-90 मध्य प्रदेश-230 पश्चिम बंगाल- उत्तर प्रदेश-403 उत्तराखंड- तेलंगाना-119 आंध्र प्रदेश- केरल - असम- महाराष्ट्र- ओडिशा- पंजाब- गुजरात - अरुणाचल प्रदेश- सिक्किम - राजस्थान- 200 मणिपुर- त्रिपुरा- मेघालय- हरियाणा - नागालैंड- गोवा- मिजोरम- कर्नाटक- दिल्ली- दमन एवं दीव- अंडमान निकोबार- लक्षद्वीप- दादर और नगर हवेली- चंडीगढ़- पुड्डुचेरी-
मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक, बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन, राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह, त्रिपुरा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी, मेघालय के राज्यपाल तथागत रॉय, झारखंड की राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू।

लोकसभा

लोकसभा की राज्यवार सीटें- बिहार-40 झारखंड-14 जम्मू कश्मीर-6 हिमाचल प्रदेश-4 तमिलनाडु-39 छत्तीसगढ़- 11 मध्य प्रदेश- 29 पश्चिम बंगाल- 42 उत्तर प्रदेश- 80 उत्तराखंड- 5 तेलंगाना- 17 आंध्र प्रदेश- 25 केरल -20 असम- 14 महाराष्ट्र- 48 ओडिशा- 21 पंजाब- 13 गुजरात -26 अरुणाचल प्रदेश- 2 सिक्किम -1 राजस्थान- 25 मणिपुर-2 त्रिपुरा- 2 मेघालय-2 हरियाणा -10 नागालैंड-1 गोवा- 2 मिजोरम- 1 कर्नाटक- 28 दिल्ली-7 दमन एवं दीव-1 अंडमान निकोबार-1 लक्षद्वीप- 1 दादर और नगर हवेली- 1 चंडीगढ़-1 पुड्डुचेरी-1

राज्यसभा

राज्यसभा की राज्यवार सीटें- मध्य प्रदेश-11, छत्तीसगढ़-5, उत्तर प्रदेश-31, जम्मू-कश्मीर-4, बिहार-16, राजस्थान-10, त्रिपुरा-1, मेघालय-1, झारखंड-6, आंध्र प्रदेश- 11, असम-7, गुजरात-11, केरल-9, महाराष्ट्-19, कर्नाटक-12, ओडिशा-10, पंजाब-7, तमिलनाडु-18, हिमाचल प्रदेश-3, पश्चिम बंगाल-16, हरियाणा-5, नागालैंड-1, मणिपुर-1, सिक्किम-1, अरुणाचल प्रदेश-1, तेलंगाना-7, गोवा-1, मिजोरम-1, उत्तराखंड-3, दिल्ली-3, पुदुचेरी-1, नामित सदस्य-12