आंखों से नींद गायब है मेरी

परेशान हूं इस कदर।
कि रातभर नींद नहीं आई।
बड़ा अजीब मसला है।
मुद्दों की खाई में गिरकर
मेरी नींद हराम हो गई।
कैसे समझाऊं ...
मेरी आंखों में कितना दर्द है?
बस एक थाली ही तो खाई थी
लेकिन ये तो सेहत से खिलवाड़ हो गई।
कब बंद होगा खिलाने-पिलाने का धंधा?
क्या मां के हाथों में ममता नहीं है?
क्या दादी के स्नेह में कमी है?
फिर क्यों स्कूल बन गया है भोजनालय?
ऐसी कई घटनाओं ने झकझोरा हैं।
मिड डे मील खाकर बच्चे बीमार हुए।
इसे नहीं रोका तो देर हो जाएगी
स्कूल के कमरे में भविष्य बर्बाद हो जाएगी।
मगर इसका इल्म किसी को नहीं है।
सरकार सोई है और मैं जगा हूं।
समझ में नहीं आता ये कौन सा मर्ज है?
जो मेरी आंखों से नींद गायब है।



Comments