योग की लोकप्रियता से गदगद हुए मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेडियो पर मन की बात की। जिसमें उन्होंने 21 जून को योग दिवस के मौके पर विश्व
साभार: PIB
भर में किए गए योग की चर्चा की। उन्होंने इसे महान उपलब्धि बताया। उन्होंने कहा कि 21 जून को योग दिवस पर अलग ही नजारा देखने को मिला। बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक, सभी ने योग कर भारत की इस महान परंपरा को कायम रखा। पीएम ने कहा कि योग को लेकर लोगों में खासा उत्साह देखा गया। यहां तक की लद्दाख में भारतीय सैनिकों के साथ चीनी सैनिकों ने भी योग किया। मोदी ने आशा जताई कि आगे भी पूरी दुनिया पूरे उत्साह के साथ योग दिवस मनायेगी। कार्यक्रम में बोलते हुए पीएम मोदी ने भारतीय डॉक्टरों की भी तारीफ की। उन्होंने कहा कि 1 जुलाई को डॉक्टर्स डे मनाया जाएगा। पीएम ने कहा कि उन्हें गर्व होता है कि भारतीय डॉक्टरों ने पूरे विश्व में अपनी पहचान बनाई है। मोदी ने डॉक्टरों को भगवान कहा। उन्होंने कहा कि मां जन्म देती है जबकि डॉक्टर इंसान को पुनर्जन्म देते हैं। इस मौके पर पीेएम ने कबीर को भी याद किया। गौरतलब है कि 28 जून को कबीर जयंती है वहीं 6 जुलाई को श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती है। मोदी ने कबीर को सामाजिक समरसता का प्रतीक बताया तो वहीं श्यामा प्रसाद मुखर्जी को राष्ट्रवादी बताया। उन्होंने कहा की डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी देश की एकता और अखंडता की चिंता किया करते थे। इसके साथ ही उन्होंने गुरु नानक का भी जिक्र किया। उन्हें प्रेरणा का स्रोत बताया। गुरु नानक ने जाति व्यवस्था को खत्म करने की वकालत की। गुरु नानक ने ही लंगर व्यवस्था की शुरुआत की। 2019 में गुरु नानक जी की 550वें प्रकाशवर्ष पर आयोजन की घोषणा की। इस दौरान मोदी ने टीम इंडिया की भी तारीफ की। जिसने टेस्ट क्रिकेट में अफगानिस्तान को हराकर जीत की ट्रॉफी पर कब्जा किया। लेकिन यहां टीम इंडिया ने अफगानिस्तान की पूरी टीम के साथ फोटो खिंचाई, जिसकी प्रधानमंत्री ने जमकर तारीफ की। बता दें कि अफगानिस्तान की टीम पहली बार टेस्ट मैच खेली है। उसने क्रिकेट खेलने के लिए प्लेटफॉर्म मुहैया कराने के लिए भारत का आभार जताया। पीएम मोदी ने मन की बात में किसानों का भी जिक्र किया। पीएम ने किसानों की आय दोगुनी करने की बात की। इसके लिए उन्होंने कर्नाटक के किसानों का उदाहरण दिया। जो ट्रस्ट के जरिए अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं। 

Comments