जम्मू-कश्मीर के छात्रों से मिले जितेंद्र सिंह

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर से आए 96 स्कूली बच्चों के एक समूह ने राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह से मुलाकात की।
ये बच्‍चे उधमपुर और कठुआ जिले से थे जिनमें 9 लड़कियां और 87 लड़के शामिल थे। बच्‍चों का यह समूह जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा आयोजित 'भारत दर्शन' के दौरे पर है। ये बच्‍चे अभी दिल्ली में हैं और बाद में आगरा जाएंगे। डॉ जितेंद्र सिंह ने  इस अवसर पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार ने देश के सभी क्षेत्रों में विकास लाने के प्रयास किए हैं जिनमें पूर्वोत्‍तर  और जम्मू-कश्मीर जैसे दूरदराज के क्षेत्र शामिल हैं। उन्होंने कहा कि दूरदराज के इलाकों के छात्रों के लिए इस तरह के 'भारत दर्शन'  टूर छात्रों को देश के अन्य हिस्सों के इतिहास और विकास को समझने का अवसर प्रदान करते हैं। छात्रों ने दिल्ली में इंडिया गेट, लाल किला और विज्ञान संग्रहालय का दौरा किया है। मंत्री ने सुझाव दिया कि छात्रों को हॉल ऑफ न्यूक्लियर एनर्जी, नेशनल फिजिकल लेबोरेटरी और नेहरू प्लेनेटेरियम जैसे स्थानों पर भी जाना चाहिए, जो उनके लिए एक अच्‍छा अनुभव साबित होगा। उन्होंने छात्रों को ऐतिहासिक स्थानों पर जाने पर किसी विशेष स्थान के इतिहास के बारे में अच्‍छी जानकारी हा‍सिल करने को कहा। जम्मू-कश्मीर में किए गए विकास कार्यों
का जिक्र करते हुए जितेंद्र सिंह ने कहा कि उधमपुर में जल्द ही एक रेडियो स्टेशन शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने राष्ट्रीय नदी संरक्षण योजना के तहत उधमपुर में देविका नदी की सफाई के लिए 170.5 करोड़ रूपए मंजूर किए हैं। जितेंद्र सिंह ने बताया कि उधमपुर में स्टेडियम को आधुनिक बनाया जा रहा है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कठुआ जिले में इंजीनियरिंग कॉलेज चलने लगा है और मेडिकल कॉलेज भी जल्द ही खोला जाएगा। इसके अलावा कठुआ जिले में 12 से अधिक पुलों पर काम पूरा हो चुका है। कुल मिलाकर केंद्रीय मंत्री ने छात्रों से मिलने के बहाने अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाई। अब इसका जम्मू-कश्मीर में कितना असर पड़ता है। वो देखने वाली बात होगी। सरकार के तमाम दावों के बाद भी सेना और पुलिस पर पत्थर बरसना बंद नहीं हो रहे हैं। मगर ये भी सच है कि पत्थर बरसाने वाले चंद लोग हैं जबकि जम्मू-कश्मीर की पूरी आबादी विकास की चाहत रखती है। उसे उम्मीद है कि उसका राज्य तेजी से विकास करेगा । 



Comments