अचानक शिशु वार्ड में पहुंची राज्यपाल

राजगढ़: मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने राजगढ़ जिले में जिला अस्पताल के शिशु वार्ड में
अचानक पहुंच गईं। दरअसल राज्यपाल जिला अस्पताल  में पीड़ति महिलाओं की देख-रेख और इनके संरक्षण के लिये जिला अस्पताल में ''वन स्टाप सेन्टर'' यानि सखी का शुभारंभ किया। राज्यपाल ने जैसे ही अस्पताल परिसर में शिशु वार्ड का बोर्ड देखा, अपनी गाड़ी रूकवाकर शिशु वार्ड में पहुँचीं। वार्ड में भर्ती सभी बच्चों के अभिभावक, डॉक्टर और नर्स से बच्चों की बीमारी के संबंध में विस्तार से जानकारी ली और बच्चों को फल वितरित करते हुए चिकित्सकों को बच्चों के समुचित इलाज के निर्देश भी दिये। इस दौरे के क्रम में राज्यपाल ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय में नारियोदय केन्द्र का शुभारंभ किया। राज्यपाल ने अभ्युदय संवाद कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि रोगी की सेवा सबसे ऊपर है। जिला प्रशासन, डक्रॉस,एनजीओ, स्वास्थ्य और टीबी रोग से जुड़े पदाधिकारियों की बैठक में राज्यपाल ने कहा कि कुपोषित बच्चों को गोद लेकर उनकी देख-रेख, उपचार और भोजन आदि कार्य सराहनीय हैं। बैठक में आभा आनंद सहायक प्राध्यापक ने 10 वर्षीय करीना को और डॉ. बासंती मोघे प्राध्यापक ने कुमारी वेदिका को गोद लिया। ग्रामीण क्षेत्र की शाला त्यागी करीब 150 बालिकाओं की शिक्षा और देख-रेख कर रही हैं। राज्यपाल ने कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में घूमी। इस दौरान उन्होंने छात्राओं से उनकी शिक्षा, खान-पान, रहन-सहन और परिवार के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने छात्राओं को समझाया कि शिक्षा के साथ-साथ उनको सभी कामों में निपुण होना चाहिए। 

Comments