बदलते युग में कानून की पढ़ाई अहम: राष्ट्रपति

कर्नाटक: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 15 सितंबर को कर्नाटक के बेलागवी में कर्नाटक लॉ सोसाइटी और राजा
लखमगौडा विधि महाविद्यालय के प्लैटिनम जुबली समारोह में भाग लिया। इस अवसर पर उन्होंने छात्रों को संबोधित किया। राष्ट्रपति ने कहा कि कानून कोई करियर नहीं है। यह एक प्रतिज्ञा है अन्याय के खिलाफ लड़ने के लिए। उन्होंने कहा कि कानून न्याय के प्रयोजन में सहायता करने का, समाज के गरीब से गरीब व्यक्ति की मदद करने का और नियमों, परंपराओं और निष्पक्षता के पालन के जरिए परिभाषित समाज और देश के निर्माण का एक तंत्र है। राष्ट्रपति ने कहा कि हम टेक्नोलॉजी के युग में जी रहे  हैं और चौथी औद्योगिक क्रांति हमारे करीब है। उन्होंने कहा कि ये हमारे जीने और काम करने के ढंग में बदलाव ला रहा है। रामनाथ कोविंद ने जोर देते हुए कहा कि जिस तरह से ये युवाओं की आकांक्षाओं को बदल रहा है। ऐसे में शिक्षण संस्थानों को नवाचार और उत्कृष्टता की खोज में लगातार शामिल रहना होगा। राष्ट्रपति ने कहा कि शिक्षण संस्थाओं को 21वीं सदी के अनुकूल बनना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि तेज प्रौद्योगिकीय विकास के बीच कानून की पढ़ाई और कानून का विकास बेहद महत्वपूर्ण है।

Comments