UNSDF 2018-22 पर दस्तखत

नई दिल्ली: नीति आयोग के CEO अमिताभ कांत और संयुक्‍त राष्‍ट्र के भारत में रेजीडेंट कॉर्डिनेटर यूरी
अफनासीव ने नई दिल्‍ली में आयोजित एक विशेष समारोह में 5 वर्षीय सतत विकास फ्रेमवर्क यानि UNSDF 2018-22 पर दस्तखत किए। इस अवसर पर नीति आयोग के उपाध्‍यक्ष डॉ. राजीव कुमार, नीति आयोग के सदस्‍य और भारत में संयुक्‍त राष्‍ट्र की सभी एजेंसियों के प्रतिनिधि भी मौजूद थे। इस मौके पर नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉक्टर राजीव कुमार ने कहा कि 2018-22 का समय भारत की विकास यात्रा का अहम हिस्‍सा होगा, क्‍योंकि 2022 में देश अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाएगा। उन्‍होंने कहा कि इस परिप्रेक्ष्‍य में UNSDF जैसा साझीदारी का दस्‍तावेज और भी महत्‍वपूर्ण हो जाता है। यह 2022 तक गरीबी से मुक्‍त और सबके लिए समान अवसर वाले न्‍यू इंडिया के निर्माण के सपने को साकार करने में मददगार साबित होगा। यूएनएसडीएफ भारत में संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों के काम की रूपरेखा तैयार करता है और सरकार के परामर्श से चिन्हित की गयी राष्ट्रीय प्राथमिकताओं के साथ समन्‍वय स्‍थापित करता है। यूएनएसडीएफ को सरकारी एजेंसियों, समाज के प्रतिनिधियों, शिक्षाविदों और निजी क्षेत्र के साथ व्‍यापक विचार-विमर्श के बाद तैयार किया गया है। यूएनएसडीएफ के संचालन के लिए नीति आयोग संयुक्‍त राष्‍ट्र के समकक्ष सरकार की प्रतिनिधि संस्‍था है। फ्रेमवर्क में प्राथमिकताओं वाले क्षेत्रों में  गरीबी और शहरीकरण, स्वास्थ्य, जल और स्वच्छता,  शिक्षा और रोजगार,  पोषण और खाद्य सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन, स्वच्छ ऊर्जा, आपदा से निबटने की क्षमता, कौशल विकास, उद्यमित और रोजगार सृजन, लैंगिक समानता और युवाओं के विकास शामिल हैं।

Comments