11 दिसंबर को आएगा 5 राज्यों का जनादेश

नई दिल्ली: राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना में विधानसभा चुनाव की तारीखों का
ऐलान हो चुका है। इस ऐलान के साथ इन पांच राज्यों में आचार संहिता लागू हो गई है। पहले चरण में छत्तीसगढ़ के लिए अधिसूचना जारी होगी। पहले चरण के मतदान के लिए 16 अक्टूबर को चुनाव अधिसूचना जारी होगी। 23 अक्टूबर को नामांकन पत्र भरने की आखिरी तारीख है और 26 अक्टूबर तक नामांकन वापस लिए जा सकेंगे। इस चरण में 18 विधानसभा सीटों पर 12 नवंबर मतदान होगा। दूसरे चरण में मतदान 26 अक्टूबर को होगा। नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख 2 नवंबर है। 5 नवंबर तक नामांकन वापस लिए  जा सकेंगे। इस चरण में 72  विधानसभा सीटों पर 20 नवंबर को मतदान होगा। इस तरह 90 विधानसभा सीटों वाले छत्तीसगढ़ में चुनाव संपन्न होगा। बता दें कि फिलहाल छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार हैं और रमन सिंह प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। फिलहाल उनके लिए फिर से सत्ता का रास्ता आसान नहीं दिख रहा है। चुनाव आयोग के ऐलान के मुताबिक मध्य प्रदेश में एक ही चरण में मतदान होगा। यहां 230 विधानसभा सीट हैं जिनके नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख  9 नवंबर है। 14 नवंबर तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। यहां सभी सीटों पर एक साथ 28 नवंबर को मतदान होगा। मध्य प्रदेश में इस वक्त भाजपा की सरकार है और शिवराज सिंह चौहान इस प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। फिलहाल वो कांग्रेस को पीछे छोड़ते हुए सत्ता की ओर फिर से बढ़ते हुए दिखाई दे रहे हैं। मिजोरम में भी मध्य प्रदेश के साथ ही मतदान कराया जाएगा। मिजोरम की 40 विधानसभा सीटों पर एक साथ चुनाव होंगे।  बता दें कि इस समय कांग्रेस की सरकार है और प्रदेश के मुख्यमंत्री ललथनहलवा हैं। वो पिछले पांच बार से प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। चुनाव आयोग ने राजस्थान और तेलंगाना में 12 नवंबर को चुनाव अधिसूचना जारी करने की घोषणा की है। जिसके बाद नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 19 नवंबर होगी। नाम वापसी 22 नवंबर तक होगी। इन दोनों राज्यों में 7 दिसंबर को मतदान होगा। 200 विधानसभा सीटों वाले राजस्थान में भाजपा की पकड़ कमजोर और कांग्रेस की पकड़ मजबूत दिखाई दे रही है। वहीं तेलंगाना में के. चंद्रशेखर राव की पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति की फिर से सत्ता में वापसी हो सकती है। तेलंगाना में कुल 119 विधानसभा सीटों पर चुनाव होगा। इन सभी पांच राज्यों में 11 दिसंबर को मतगणना होगी। जिसके बाद जनता का जनादेश सामने आएगा।

Comments