24 अक्टूबर को जारी होगी कांग्रेस की तीसरी लिस्ट

नई दिल्ली: कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति ने मीडिया को खूब छकाया। दिनभर सनसनी फैली रही कि दोपहर
3 बजे के बाद कभी भी कांग्रेस की तीसरी लिस्ट जारी हो सकती है। प्रत्याशियों के नामों को लेकर दिनभर कयास लगाए जाते रहे। दिनभर चर्चा होती रही कि 40 नामों पर सहमति बन गई है और ये फाइनल लिस्ट है। इसमें प्रत्याशियों को नहीं बदला जाएगा।मगर शाम होते होते सारे कयास धरे के धरे रह गए। पता चला कि छत्तीसगढ़ चुनाव में कांग्रेस ने अपने प्रत्याशियों की तीसरी लिस्ट बुधवार को जारी करने का मन बनाया है। माना जा रहा है कि बाकी बचे 72 सीटों पर पार्टी प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर सकती है। हालांकि सूत्र ये भी बता रहे हैं कि कांग्रेस चौथी लिस्ट भी जारी कर सकती है। फिलहाल 72 सीटों में कांग्रेस से 27 विधायक पिछली बार चुने गए थे। हालांकि इनमें से एक पाली तानाखार के विधायक रामदयाल उइके ने भाजपा का दामन थाम लिया वहीं मरवाही से अमित जोगी, बिल्हा से सियाराम कौशिक, गुण्डरदेही से आर के राय जोगी कांग्रेस की सदस्यता ले ली। बाकी बचे 23 विधायकों में से 8 से 10 विधायकों का टिकट भी कट सकता है, जबकि दर्जन भर से अधिक विधायकों को फिर से चुनाव लड़ने का मौका मिल सकता है। कांग्रेस इस बार कोई रिस्क लेने के मूड में नहीं है लिहाजा वो जिताऊ उम्मीदवार पर ही मंथन कर रही है। जिन विधायकों को दोबारा टिकट मिलने की बात सामने आ रही है उनमें अंबिकापुर से टी एस सिंहदेव, पाटन से भूपेश बघेल, रायपुर ग्रामीण से सत्यनारायण शर्मा, अभनपुर से धनेंद्र साहू, रामानुजगंज से बृहस्पत सिंह, सामरी से चिंतामणी महाराज, सीतापुर से अमरजीत भगत, खरसिया से उमेश पटेल, दुर्ग से अरुण वोरा, बालोद से भैय्या लाल सिन्हा, भटगांव से पारसनाथ राजवाड़े, लुंड्रा से डॉ. प्रीतम राम, मस्तूरी से दिलीप लहरिया और कोरबा से जय सिंह अग्रवाल को कांग्रेस दोबारा मौका दे सकती है। अब आइए आपको बताते हैं कि किन किन विधायकों के टिकट कट सकते हैं। नाम कटने की लिस्ट में सबसे ऊपर कोटा की विधायक रेणु जोगी का नाम  है। उनके अलावा धरमजयगढ़ से लालजीत सिंह राठिया, डौंडीलोहारा से अनिला भेड़िया, अकलतरा से चुन्नी लाल साहू, बलौदाबाजार से जनक वर्मा, प्रेम नगर से खेल साय सिंह का टिकट कट सकता  है। वहीं रामपुर से श्याम लाल कंवर, जांजगीर से चांपा मोतीलाल देवांगन और धमतरी से गुरमुख सिंह होरा का पत्ता साफ हो सकता है। फिलहाल कांग्रेस में छत्तीसगढ़ की 90 सीटों पर जीत के लिए किस पर दांव लगाया जाए, इसी पर मंथन जारी है। 24 अक्टूबर को साफ होगा कि कांग्रेस ने किन-किन उम्मीदवारों पर दांव लगाया है?

Comments