जम्मू कश्मीर विधानसभा भंग, गठबंधन सरकार बनाने की संभावना खत्म, भाजपा ने जल्द चुनाव कराने की मांग की
सबरीमाला केस: केरल हाईकोर्ट ने के सुरेंद्रन के अलावा 71 लोगों को दी जमानत। तमिलनाडु: कांग्रेंस सांसद एम आई शानावास का निधन। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में 60 प्रतिशत से ज्यादा वोटिंग। सीबीई रिश्वतकांड: डायरेक्टर आलोक वर्मा का जवाब लीक होने पर सुनवाई स्थगित। 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ूंगी- सुषमा स्वराज। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर लाल मिर्च पाउडर से हमला। राज्यसभा की बैठक 11 दिसंबर 2018 से 8 जनवरी 2019 तक। राहुल गांधी ने अजित डोभाल के बहाने पीेएम मोदी पर निशाना साधा। कर्नाटक में किसानों के नाम वारंट निकले- पीएम मोदी । मुद्रा योजना से 14 करोड़ लोगों को मिला कर्ज- पीएम मोदी। महाराष्ट्र के वर्धा सैन्य डिपो में धमाका, 6 की मौत। भारत-भूटान ने द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की। महिला मुक्केबाजी: मैरीकॉम सेमीफाइनल में पहुंचीं।
भारत के संविधान के निर्माण में 2 साल 11 महीना और 18 दिन का समय लगा था। शुरू में 395 अनुच्छेद 22 भाग और 8 अनुसूचियां थीं। संविधान सभा के कुल सदस्यों की संख्या 389 थी जिनमें 292 ब्रिटिश प्रांत 93 देसी रियासत और 4 कमिश्नर क्षेत्र के प्रतिनिधि शामिल थे। संविधान सभा का पहला अधिवेशन 9 दिसंबर 1946 को हुआ जिसकी अध्यक्षता डॉ. सच्चिदानंद सिन्हा ने की थी। डॉ. राजेंद्र प्रसाद को 11 दिसंबर 1946 को संविधान सभा का स्थायी अध्यक्ष चुन लिया गया।
मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक, जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक, बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन, राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह, त्रिपुरा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी, मेघालय के राज्यपाल तथागत रॉय, झारखंड की राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू।

नक्सलियों का हमला, मीडियाकर्मी सहित 3 की मौत

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव है। बस्तर को नक्सल प्रभावित मानते हुए चुनाव आयोग ने बस्तर और
राजनांदगांव में चुनाव पहले चरण यानि 12 नवंबर को मतदान होना है। मुख्यमंत्री से लेकर नेता प्रतिपक्ष तक और प्रत्याशी से लेकर कार्यकर्ता तक, सभी  चुनाव प्रचार में जुट  गए हैंं। बस्तर नके कई गांव ऐसे हैं जहां के रहने वाले लोग पहली बार मतदान करने वाले हैं। जैसे-जैसे बस्तर के अंदरुनी इलाकों में विकास की रोशनी पहुंचती गई वैसे-वैसे उन इलाकों में नक्सली पकड़ ढीली पड़ती चली गई। अब जब चुनाव सामने हैं तो नक्सली ग्रामीणों में दहशत पैदा करने के लिए हत्या, विस्फोट जैसे संगीन जुर्म कर रहे हैं। बस्तर के कई इलाकों में नक्सलियों ने चुनाव बहिष्कार करने का फरमान जारी किया है। ये फरमान पोस्टर बैनर के साथ गाड़ियों पर लिखी मिल रही हैं। जिसके चलते ग्रामीण दशहत में आ रहे हैं। नक्सल प्रभावित इलाकों में कितना प्रतिशत मतदान होगा। इसके बारे में अभी से कुछ कहना ठीक नहीं होगा, फिलहाल चुनाव आयोग के सामने बड़ी समस्या ये है कि वो कैसे नक्सल प्रभावित इलाकों के ग्रामीणों को बेखौफ होकर मतदान के लिए रराजी करता है। 30 अक्टूबर को नक्सलियों ने अरनपुर थाना क्षेत्र के नीलावाया के जंगल में IED ब्लास्ट कर दिया, जिसमें एक SI रुद्र प्रताप सिंह और कॉन्स्टेबल मंगलराम शहीद हो गए, वहीं दूरदर्शन का कैमरापर्सन अच्युतानंद साहू की मौत हो गई। दूरदर्शन के वीडियो पत्रकार की मौत पर केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने गहरा दुख व्यक्त किया। इसके साथ ही उन्होंने कैमरापर्सन के जज्बे को सलाम किया। राज्यवर्धन सिंह ने कहा कि सरकार कैमरापर्सन के गमजदा परिवार के साथ है। इस हमले में दो जवान भी घायल हुए हैं। इसके पहले नक्सलियों ने 28 अक्टूबर को भाजपा नेता नंदल मुदियामी पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। जिनका इलाज जारी है। नंदल मुदियामी दंतेवाड़ा जिला परिषद के सदस्य हैं। उन पर जानलेवा हमला होने के बाद भाजपा के केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने अपनी जगदलपुर दौरा रद्द कर दिया। इसके पहले नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर 27 अक्टूबर को बम ब्लास्ट कर दिया जिसमें CRPF के चार जवान शहीद हो गए वहीं 2 जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। बहरहाल ये कहना ठीक रहेगा कि सरकार के सामने नक्सली मंसूबा क्या है, वो तो सामने हैं। अब ये सरकार और चुनाव आयोग की जिम्मेदारी बनती है कि वो नक्सल प्रभावित इलाकोें में रहने वाले ग्रामीणों को नक्सलियों की दहशत से बाहर निकालें और लोकतंत्र के इस महापर्व में सहभागी बनाएं।

Comments

छायावादी कवि: जयशंकर प्रसाद (1890-1937)- कामायनी, आंसू, लहर, झरना, चित्राधार, उर्वशी, वनमिलन, प्रेम राज्य, करुणालय, कुसुम, अयोध्या का उद्धार।