राज्यपाल ने इथेनॉल बायो-रिफायनरी की नींव रखी

ओडिशा के राज्यपाल प्रोफेसर गणेशी लाल ने राज्य के बारगढ़ जिले की भाटली तहसील के बोलासिंघा गांव में
भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन द्वारा स्थापित किये जा रहे सेकेंड जेनरेशन इथेनॉल बायो-रिफाइनरी की नींव रखी। केन्द्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान समेत कई लोग मौजूद थे। ये बॉयो-रिफाइनरी संयंत्र देश का अपने किस्म का पहला संयंत्र है जो चावल की भूसी का फीडस्टॉक के रूप में इस्तेमाल करके हर साल 3 करोड़ लीटर एथनॉल उत्पादन करेगा। इस संयंत्र द्वारा उत्पादित किये गये एथनॉल को पेट्रोल के साथ मिलाकर बेचा जाएगा। इस परियोजना की लागत लगभग 100 करोड़ रुपये है। राज्यपाल ने कहा कि इस संयंत्र की स्थापना से लोगों को ईंधन के किल्लत से थोड़ी राहत मिलेगी। इथेनॉल पर्यावरण के लिए सुरक्षित और लोगों के लिए किफायती भी है।

Comments