उपराष्ट्रपति ने किया अंगदान का आह्वान

हैदराबाद: उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने हैदराबाद में इंडियन सोसाइटी ऑफ ऑर्गेन ट्रांसप्लांटेशन के 29वें
सम्मेलन का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि दूसरे के जीवन को बचाने के लिए अंगदान अभियान में तेजी लाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अंगदान से बड़ा दान से कुछ भी बड़ा नहीं हो सकता। नायडू ने कहा कि आज के समय में देश में अंगदान की बहुत जरूरत है लेकिन इनकी उपलब्धता बेहद सीमित है। लीवर ट्रांसप्लांट की जरूरत वाले मरीजों की संख्या हर साल 85 हजार होती है लेकिन इनमें से 3 प्रतिशत से भी कम का ही प्रत्यारोपण हो पाता है। इसी तरह हर साल 2 लाख मरीज किडनी प्रत्यारोपण के लिए रजिस्ट्रेशन कराते हैं लेकिन इनमें से केवल 8 हजार का ही प्रत्यारोपण हो पाता है। उपराष्ट्रपति ने बताया कि केवल 1 फीसदी मरीजों का ही हृदय और फेफड़ों का प्रत्यारोपण हो पाता है। उपराष्ट्रपति ने कहा कि हालांकि पिछले चार-पांच सालों में मानव अंगदान के मामलों में काफी तेजी आई है लेकिन फिर भी मांग और आपूर्ति में बड़ा अंतर बना हुआ है। सम्मेलन में तेलंगाना के उप-मुख्यमंत्री मोहम्मद महमूद अली, भारतीय अंग प्रत्यारोपण सोसाइटी के अध्यक्ष डॉ. के.एल. गुप्ता समेत कई लोग मौजूद थे। 

Comments