कृषि स्टार्टअप, उद्यमिता कॉन्क्लेव का उद्घाटन

नई दिल्ली: केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह ने एनएएससी कॉम्प्लेक्स, पूसा,   नई
दिल्ली में 16 अक्टूबर को विश्‍व खाद्य दिवस के अवसर पर आयोजित दो दिवसीय कृषि-स्‍टार्टअप एवं उद्यमिता कॉन्‍क्‍लेव का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि इस साल विश्‍व खाद्य दिवस मनाने का उद्देश्य वर्ष 2030 तक शून्‍य भुखमरी यानि जीरो हंगर के लक्ष्य को हासिल किया जा सके। कृषि मंत्री ने बताया कि भारत में कृषि उत्‍पादन बढ़ाने में  भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद यानि ICAR और किसानों का बड़ा योगदान है। वर्ष 2017-18 में चौथे अग्रिम आकलन के अनुसार खाद्यान्‍न उत्‍पादन 284.83 मिलियन टन है, जो वर्ष 2013-14 में हासिल उत्‍पादन 265.04 मिलियन टन के मुकाबले लगभग 20 मिलियन टन ज्‍यादा है। वर्ष 2013-14 में बागवानी फसलों का उत्पादन 277.35 मिलियन टन था जो वर्ष 2017-18 में चौथे अग्रिम आकलन के अनुसार बढ़कर  307 मिलियन टन हो गया और यह वर्ष 2013-14 में हासिल उत्‍पादन के मुकाबले में लगभग 30 मिलियन टन ज्‍यादा है। राधामोहन सिंह ने बताया कि बागवानी उत्‍पादन में आज भारत विश्‍व में प्रथम स्‍थान पर है। कृषि मंत्री ने जानकारी कि वर्ष 2015-16 में दलहन  फसलों का उत्‍पादन 16.25 मिलियन टन था जो वर्ष 2017-18 में चौथे अग्रिम आकलन के अनुसार बढ़कर  25.23 मिलियन टन हो गया और जो वर्ष 2013-14 में हासिल उत्‍पादन के मुकाबले लगभग 9 मिलियन टन ज्‍यादा है।

Comments