जब पीएम मोदी ने कहा 'जयहिन्द'

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा गठित आज़ाद हिंद सरकार के गठन की
75वीं वर्षगांठ मनाई। इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज को फहराया। प्रधानमंत्री ने देश को बधाई देते हुए कहा कि आज़ाद हिंद सरकार ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा निर्धारित मजबूत अविभाजित भारत के विज़न का प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने कहा कि आजाद हिंद सरकार राष्ट्र निर्माण में सक्रिय रूप से शामिल थी, यहां तक ​​कि उसने अपने बैंक, मुद्रा और टिकट भी शुरू कर दिये थे। पीएम मोदी ने कहा कि सुभाषचंद्र बोस एक दूरदर्शी नेता थे। उन्होंने शक्तिशाली ब्रिटिश शासन के खिलाफ लड़ने के लिए भारतीयों को एकजुट किया। पीएम ने कहा कि नेताजी ने युवा अवस्था में ही देशभक्ति का प्रदर्शन कर दिया था। उनकी यह भावना अपनी मां को लिखे उनके पत्रों में दिखाई देती थी। मोदी ने सुभाषचंद्र बोस को भारतीयों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बताया। पीएम मोदी ने युवाओं से अपील की कि वो नेताजी से प्रेरणा लेकर देश के विकास की दिशा में काम करें। उन्होंने कहा कि भारत ने अनेक बलिदानों के बाद आजादी हासिल की है और यह नागरिकों का कर्तव्य बनता है कि वे अपनी आजादी को सुरक्षित रखें।  है कि वे अपनी स्वतंत्रता को सुरक्षित रखें। प्रधानमंत्री ने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने रानी झांसी रेजिमेंट के गठन के माध्यम से सशस्त्र बलों में महिलाओं के लिए समान अवसर प्रदान करने की नींव रखी थी। पीएम मोदी ने दोहराया कि महिलाओं को सशस्त्र बलों में स्थायी कमीशन के लिए समान अवसर उपलब्ध कराए जाएंगे।

Comments