मेनका गांधी ने महिलाओं के लिए मनाया 'उत्सव'

नई दिल्ली: महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने नई दिल्‍ली के  इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में
पांचवें भारतीय महिला राष्ट्रीय जैविक उत्सव का उद्घाटन किया। यह उत्‍सव जैविक कृषि के क्षेत्र में देशभर की महिला उद्यमियों, उत्‍पादकों और किसानों को प्रोत्‍साहित करता है। मेनका गांधी ने कहा कि पिछले चार वर्षों में पांचवीं बार इस जैविक उत्‍सव का आयोजन किया गया है और हर साल इसको लोगों को इसका समर्थन मिल रहा है। उन्‍होंने कहा कि उनके मंत्रालय का प्रयास परिवर्तन का हिस्‍सा बनना और साथ-साथ महिलाओं को सशक्‍त बनाना है। महिला और बाल विकास मंत्री ने जैविक उत्‍पादों वाले त्‍यौहारी उपहारों को प्रोत्‍साहित किया और दिल्‍ली के लोगों से कहा कि वे जैविक उत्‍पादों वाले उपहार दें। उत्‍सव में भाग लेने वाली उद्यमियों और किसानों को महिला और बाल विकास मंत्रालय की ई-मार्किटिंग पोर्टल महिला-ई-हाट पर बेचने के लिए प्रोत्‍साहित किया जा रहा है। यह जैविक उत्सव 26 अक्तूबर से 4 नवंबर तक चलेगा, इसमें 26 राज्यों के जैविक उत्पाद और निर्माता भाग ले रहे हैं। लेह से कन्याकुमारी और कोहिमा से कच्छ तक की 500 से अधिक महिला उद्यमी एक साथ अपने जैविक उत्पादों को पेश कर रही हैं। इन उत्‍पादों में चावल की 1200 किस्में, बाजरा, अनाज, दाल, मसाले, चिल्ली चॉकलेट, कद्दू के बीज, कुकीज, अचार, जाम, चटनी, जूस, सूखे फल, जैविक आईसक्रीम, तैयार भोजन, तेल, शहद, चाय, कॉफी, खुम्बी, जड़ी-बूटी, प्रसाधन, खुशबूदार उत्पाद, सौर उत्पाद, रसोई के कचरे से बनी खाद, जैविक बीज, जैविक सूती कपड़े, सूती कपड़े, बीजों से बने आभूषण, आसव, गाय के गोबर से बना एयर-प्यूरीफायर समेत कई उत्पाद शामिल हैं। 

Comments