महाभारत 2019: कैसे पराजित होंगे मोदी ?

नई दिल्ली: इस समय बीजेपी के खिलाफ विरोधी दलों का महागठबंधन पर महामंथन चल रहा है। इस दिशा में
आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू और समाजवादी नेता शरद यादव खास तौर पर जुटे हुए हैं। पिछले एक हफ्ते में चंद्रबाबू नायडू का ये दूसरा दौरा है। जिसमें उन्होंने राहुल गांधी  के साथ मिलकर महागठबंधन बनाने को लेकर चर्चा की। बताया जा रहा है कि राहुल और चंद्रबाबू नायडू में इस बात पर सहमति बन गई है कि दोनों दल साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे। विधानसभा चुनाव के अलावा चंद्रबाबू नायडू 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर महागठबंधन बनाने की कवायद में जुटे हैं। इस बार उन्होंने 1 नवंबर को सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की। 2 नवंबर को उन्होंने अखिलेश यादव से भी मुलाकात कर महागठबंधन को लेकर चर्चा की। आपको बता दें कि इससे पहले दिल्ली पहुंचने पर चंद्रबाबू नायडू ने नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारुख अब्दुल्ला और एनसीपी नेता शरद पवार से मुलाकात की। इसके पहले दौरे में चंद्रबाबू नायडू बसपा की मायावती, शरद यादव और अरविंद केजरीवाल से मिलकर महागठबंधन बनाने को लेकर चर्चा की थी। यहां गौरतलब है कि यही चंद्रबाबू नायडू  कभी भाजपानीत एनडीए के संयोजक हुआ करते थे। अब भाजपा के खिलाफ सशक्त मोर्चा बनाने की कवायद कर रहे हैं। फिलहाल उनके इस बार के दिल्ली दौरे में इतना तो तय हो गया कि कांग्रेस और तेलगुदेशम पार्टी ने हाथ से हाथ मिला लिया है। आगे की रणनीति कैसी होगी, फिलहाल दोनों दल इसी पर विचार-मंथन कर रहे हैं। 

Comments