संसद पर आतंकी हमले की आज 17वीं बरसी

नई दिल्ली: आज संसद पर हुए आतंकी हमले की 17वीं बरसी है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस हमले में
शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी। संसद परिसर में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया था जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हुए। इस मौके पर उऩ्होंने कहा कि हम उन शहीदों की बहादुरी को नमन करते हैं जिन्होंने संसद पर कायरतापूर्वक हमले के दौरान अपनी शहादत दी। पीएम मोदी ने कहा कि उऩके साहस और पराक्रम हर भारतीय को प्रेरित करता है। बता दें कि 17 साल 13 दिसंबर 2001 को लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने संसद पर हमला किया था। आतंकी संसद भवन को बम से उड़ाने की फिराक में थे। लेकिन वे अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाए। संसद भवन के सुरक्षा कर्मियों ने उऩसे लोहा लेते हुए 5 आतंकियों को मार गिराया।  आधे घंटे तक चले इस मुठभेड़ में दिल्ली पुलिस के 6 जवान और संसद के 2 सुरक्षाकर्मी भी शहीद हुए थे। इस हमले में एक माली की भी मौत हुई थी। आपको याद दिला दें कि इसी आतंकी हमले की साजिश रचने के आरोप में अफजल गुरु को फांसी की सजा दी गई थी जिसकी कुछ लोगों ने आलोचना की थी। लेकिन इस आलोचना के बाद भी भारत सरकार अपने रुख पर कायम रही। उसने जता दिया कि वो आतंकवाद के मामले में जीरो टॉलरेंस रखती है। 

Comments