जब पीएम ने कहा 'हम साथ-साथ है'

नई दिल्ली: भारत में भूटान के प्रधानमंत्री डॉक्टर लोटे शेरिंग की पहली यात्रा है। उनके भारत आगमन पर
उनका गर्मजोशी के साथ स्वागत किया गया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ये साल भारत और भूटान के राजनयिक संबंधों की स्वर्ण जयंती का साल है। प्रधानमंत्री ने भूटान में इस साल हुए तीसरे आम चुनाव के सफलतापूर्वक संपन्न हो जाने पर खुशी जताई और भूटान को इसके लिए बधाई दी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि डॉक्टर लोटे का विजन “narrowing the gap” विजन उनके विजन सबका साथ सबका विकास से मिलता जुलता है। ऐसे में भूटान तेजी से विकास के रास्ते पर आगे बढ़ेगा। इसकी उम्मीद पीएम मोदी ने जताई। मोदी ने कहा कि भूटान भारत का भरोसेमंद मित्र है। भूटान के विकास में भारत हमेशा मददगार रहेगा। पीएम मोदी ने बताया कि भूटान की 12वीं पंचवर्षीय योजना में भारत 4500 करोड़ रूपए का योगदान देगा। जिससे भूटान में विकास को और गति मिल सके। पीएम ने कहा कि भारत और भूटान के सहयोग के लंबे इतिहास में हाइड्रो प्रोजेक्ट्स का अहम रोल रहा है। मान्ग-देछू प्रोजेक्ट पर काम जल्द ही पूरा होने वाला है। ृदूसरे प्रोजेक्ट्स पर भी कार्य संतोषजनक प्रगति पर है। पीएम मोदी ने कहा कि ISRO द्वारा भूटान में बनाया जा रहा ग्राउंड स्टेशन भी जल्द बनकर तैयार हो जाएगा। उन्होंने बताया कि इस प्रोजेक्ट के पूरा हो जाने से भूटान में दूर-दराज के क्षेत्रों में भी मौसम की जानकारी, टेली मेडिसिन और आपातकाल स्थितियों से निपटने में मदद मिलेगी। इस अवसर पर भूटान के प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने भूटान में रुपे कार्ड को लॉन्च करने का फैसला लिया है। लोटे ने कहा कि उनकी सरकार चाहती है कि भारत और भूटान के बीच लोगों के संबंधों को और मजबूत बनाया जाना चाहिए। दोनों देशों के प्रयास से इस दिशा में संतोषजनक प्रगति हो रही है। 

Comments